Feb 11 • 6M

Complete Horoscope Analysis. Is your Astrologer Aware of TRIPOD Concept?

It is a fundamental concept that every Astrologer should know. क्या आपके ज्योतिषी ट्राईपौड अवधारणा के बारे में जानते हैं?

8
2
 
1.0×
0:00
-5:32
Open in playerListen on);
The Podcast is about the monthly article that is published on this Substack. Listening to the subject matter of the article gives a different perspective of that topic 😊
Episode details
2 comments

Listen Audio | ऑडियो सुनें 🔊

🥀 on SPOTIFY ⬇️


🥀 on APPLE Podcasts ⬇️

This Podcast is primarily in Hindi Language 🍁 यह पॉडकास्ट मुख्य रूप से हिंदी भाषा में है 🍁
The image shows a tripod surrounded by mountrain ranges. It's written - For a Complete Horoscope Analysis" and "The Tripod Concept". This image appears in the article written by Anish Prasad at rationalastro.org
👇 इस आर्टिकल को हिन्दी में पढ़ने के लिए कृपया नीचे स्क्रॉल करें 👇

I received this question through email. I am replacing the identifying words with crosses.

I consulted with Sh. xxxxx at xxxxx. He charged Rs.xxxxx for a complete horoscope analysis. But despite paying so much and spending a lot of time traveling to his place, I am not sure whether he did my complete horoscope analysis or just paid lip service. Please tell me how an Astrologer does a complete analysis of the horoscope?

Without commenting on the merits of an individual Astrologer, let me say just this-For a complete horoscope analysis experience - The TRIPOD concept in Astrology is very important. We often pay hefty amounts to avail services of professional astrologers. We also give them our confidential birth data. We should therefore ask them if they know the basic concept in astrology that I call the TRIPOD Concept. In this article, I have tried to keep the language simple but I apologize for using some technical astrology terms which I couldn’t have avoided.


No meaningful interpretation of horoscope is possible unless done through the TRIPOD concept


Let’s try and understand these three important reference points:-

1. Lagna-

Lagna is the point which rises with the Sun on the eastern horizon every day. It tells us the actual events, the truth, the facts with no emotional bias or any value judgment. The event is truth as it is. For instance, getting a job is an event, a reality. There are no value-judgements attached to this. Whether it’s a ‘good’ job or a ‘bad’ job is not the concern. We need to examine such events of facts from the reference point of Lagna. For a better understanding of the topic, let’s create a fictitious person called as Sneha. Let’s say Sneha gets a job offer from some company. To examine the event of Sneha getting a job offer, the reference point has to be Lagna.

2. Arudha Lagna-

The reference of Arudha Lagna in horoscope tells us about how our society is viewing an event that has happened to us. The opinion of people that matters to us always influences us. How is the society rating the job offer of Sneha? In Sneha’s example, if there are malefic combinations surrounding Arudha Lagna, it means the society is not impressed by her job offer. On the other hand, if there are benefic combinations, it means that the society is excited about it. Of course, the actual analysis is much more complex, but I am trying to be as simple as possible.

3. Grah Arudha-

This reference point shows how the individual is taking that event or fact. Is Sneha happy or sad about getting that job offer? If Sneha was trying hard for a job, this offer could be a boon to her. In such a scenario, the horoscope will show well-aligned planets from Grah Arudha in particular dashas. But if Sneha was trying to get a better job than the existing one, may be it is not a very exciting offer in her opinion. If this is the case, there would be malefic combinations from Grah Arudha.


Summary:

No meaningful interpretation of horoscope is possible unless done through the TRIPOD concept. Using three reference points - Lagna, Arudha Lagna and Grah Arudha in a horoscope can give a holistic view. We should not feel shy about asking the astrologer whether she or he is aware of this Concept or not. If not, then we should avoid such astrologers. And instead spend our money with family & friends without worrying about the future.


🙏 Om Tat Sat 🙏

Anish Prasad


The image has logo of RationalAstro with its name. A phrase is mentioned "Astrology is much more than predicting future. It is about making the future possible." Articles contributed by: Anish Prasad

RationalAstro propagates a positive, rational and spiritual outlook towards life through Astrology. 😊 Please JOIN and strengthen the RationalAstro Family 🙏🏻


क्या आपके ज्योतिषी ट्राईपौड अवधारणा के बारे में जानते हैं?

मुझे यह प्रश्न ईमेल के माध्यम से प्राप्त हुआ। मैं पहचानने वाले शब्दों को क्रॉस से बदल रहा हूं।

मैंने श्री xxxxx से परामर्श किया। उन्होंने संपूर्ण कुंडली विश्लेषण के लिए xxx रुपये का शुल्क लिया। लेकिन इतना भुगतान करने के बावजूद, मुझे यकीन नहीं है कि उन्होंने मेरी पूरी कुंडली का विश्लेषण किया या नहीं। कृपया मुझे बताएं कि एक ज्योतिषी कुंडली का संपूर्ण विश्लेषण कैसे करता है?

किसी ज्योतिषी के गुणों पर टिप्पणी किए बिना, मैं बस इतना ही कहना चाहता हूं- पूर्ण कुंडली विश्लेषण के लिए - TRIPOD अवधारणा बहुत महत्वपूर्ण है। पेशेवर ज्योतिषियों की सेवाओं का लाभ उठाने के लिए हम अक्सर मोटी रकम का भुगतान करते हैं। हम उन्हें अपना गोपनीय जन्म डेटा भी देते हैं। इसलिए हमें उनसे पूछना चाहिए कि क्या वे ज्योतिष की इस मूल अवधारणा को जानते हैं जिसे मैं ट्राइपॉड कॉन्सेप्ट कहता हूँ। इस लेख में, मैंने भाषा को सरल रखने की कोशिश की है, लेकिन कुछ तकनीकी ज्योतिष शब्दों के उपयोग को मैं नहीं टाल सकता था, जिसके लिए क्षमाप्रार्थी हूँ।


बिना TRIPOD अवधारणा के कुंडली की कोई सार्थक व्याख्या संभव नहीं है


आइए इन तीन महत्वपूर्ण संदर्भ बिंदुओं को समझने का प्रयास करें:-

1. लग्न-

लग्न वह बिंदु है जो हर दिन पूर्वी क्षितिज पर सूर्य के साथ उगता है। यह हमें वास्तविक घटनाओं, सच्चाई, तथ्यों को बिना किसी भावनात्मक पूर्वाग्रह के बताता है। घटना जैसी है वैसी ही सच है। उदाहरण के लिए, नौकरी पाना एक घटना है, एक वास्तविकता है। चाहे वह 'अच्छी' नौकरी हो या 'बुरी' नौकरी। हम लग्न के संदर्भ बिंदु से इस तथ्य की जांच करते हैँ। विषय को बेहतर समझने के लिए, आइए स्नेहा नामक एक काल्पनिक व्यक्ति बनाएं। स्नेहा को किसी कंपनी से नौकरी का ऑफर मिलता है। स्नेहा को नौकरी का प्रस्ताव मिलने की स्थिति की जांच करने के लिए संदर्भ बिंदु ‘लग्न’ होना चाहिए।

2. आरूढ़ लग्न-

कुंडली में अरुधा लग्न का संदर्भ हमें बताता है कि हमारे साथ घटी किसी घटना को हमारा समाज किस तरह से देख रहा है। लोगों की राय जो हमारे लिए मायने रखती है वह हमेशा हमें प्रभावित करती है। स्नेहा के जॉब ऑफर को सोसाइटी कैसे रेटिंग दे रही है? स्नेहा के उदाहरण में, यदि अरुधा लग्न के आसपास अशुभ योग हैं, तो इसका अर्थ है कि समाज उसकी नौकरी की पेशकश से प्रभावित नहीं है। वहीं दूसरी ओर यदि शुभ योग हैं तो इसका अर्थ है कि समाज इसे लेकर उत्साहित है। बेशक, वास्तविक विश्लेषण बहुत अधिक जटिल है, लेकिन मैं यथासंभव सरल होने की कोशिश कर रहा हूं।

3. गृह-आरूढ़ा

यह संदर्भ बिंदु दर्शाता है कि व्यक्ति स्वयं उस घटना या तथ्य को कैसे ले रहा है। नौकरी का ऑफर मिलने से स्नेहा खुश है या दुखी? अगर स्नेहा नौकरी के लिए काफी मेहनत कर रही थी तो यह ऑफर उनके लिए वरदान साबित हो सकता है। ऐसे में कुंडली विशेष दशाओं में गृह-आरूढ़ा से ठीक तरह से संरेखित ग्रहों को दिखाएगी। लेकिन अगर स्नेहा मौजूदा नौकरी से बेहतर नौकरी पाने की कोशिश कर रही थी, तो हो सकता है कि उनकी राय में यह बहुत रोमांचक प्रस्ताव न हो। यदि ऐसा है, तो गृह-आरूढ़ा से अशुभ योग दिखेंगे।


सारांश:

बिना TRIPOD अवधारणा के कुंडली की कोई सार्थक व्याख्या संभव नहीं है। कुंडली में तीन संदर्भ बिंदुओं - लग्न, आरूढ़ लग्न और गृह आरूढ़ा का उपयोग करके ही एक समग्र दृष्टिकोण दिया जा सकता है। हमें ज्योतिषी से यह पूछने में शर्म नहीं करनी चाहिए कि वह TRIPOD अवधारणा से अवगत है या नहीं। यदि नहीं, तो हमें ऐसे ज्योतिषियों से बचना चाहिए। और इसके बजाय भविष्य की चिंता किए बिना अपना पैसा परिवार और दोस्तों के साथ खर्च करना चाहिए।


🙏 ऊँ तत् सत् 🙏

अनीश प्रसाद


 इस तस्वीर में रैशनलएस्ट्रो का लोगो दिखाया गया है। लिखा है “ज्योतिष भविष्यवाणी करने से कहीं अधिक है। यह भविष्य को संभव बनाने के बारे में है”. यह आर्टिकल रैशनलएस्ट्रो पर अनीश प्रसाद द्वारा लिखा गया है

रैशनलएस्ट्रो ज्योतिष के माध्यम से जीवन के प्रति सकारात्मक, तर्कसंगत और आध्यात्मिक दृष्टिकोण का प्रचार करता है। 😊 कृपया परिवार से जुड़कर इसे शक्ति दें 🙏🏻

सब्सक्राईब करें